अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य चम्पू-काव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई क़ता

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक चिन्तन शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा वृत्तांत डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य लघुकथा बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट सम्पादकीय प्रतिक्रिया

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

अंजना वर्मा

कवि, कथा-लेखिका एवं गीतकार अंजना वर्मा 
नीतीश्वर महाविद्यालय (बी आर ए बिहार यूनिवर्सिटी), मुज़फ्फरपुर में प्रोफ़ेसर एव  हिंदी विभागाध्यक्ष के पद पर रहते हुए लंबे समय तक अध्यापन से जुड़ी रही हैं। इनके पिता डॉक्टर गोविंद शरण प्रसिद्ध अस्थि रोग शल्य चिकित्सक थे तथा पति डॉ. एस.के. वर्मा भी श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज, मुज़फ्फरपुर में  चिकित्सक एवं प्राचार्य रहे। छपरा (बिहार) के एक सुसंस्कृत बुद्धिजीवी परिवार से आने वाली अंजना वर्मा के जीवन का लंबा समय अध्यापन के साथ-साथ शोध-कार्य निर्देशन तथा लेखन में बीता है।
जन्म: 12 फरवरी, मोतिहारी (बिहार)
शिक्षा: एम.ए., पीएच. डी.
प्रकाशन: विविध विधाओं में बीस पुस्तकें प्रकाशित।
कविता-संग्रह

कहानी-संग्रह

गीत-संग्रह

लोरी-संग्रह

दोहा-संग्रह

समीक्षा-पुस्तक

यात्रा वृत्त

वंदना-संग्रह

बाल साहित्य

सम्मान: 

अनुवाद: कई रचनाओं के अंग्रेजी, कन्नड़ मराठी, मलयालम तथा नेपाली में अनुवाद।
मंचन: अमुक आर्टिस्ट ग्रुप, लखनऊ द्वारा कहानी 'हार्स  रेस' एवं  कविता 'लिखो मेरी कहानी' का मंचन   
आडियो: साहित्यिक मंच 'गाथा'  तथा बी के इंटरटेनमेंट द्वारा  कई कहानियों के ऑडियो बनाए गये हैं।
विशेष: अर्द्धवार्षिक पत्रिका 'चौराहा' का पाँच वर्षों तक संपादन एवं प्रकाशन ।
अन्य कड़ियाँ: 
अंजना वर्मा - हिन्दी  समय
अंजना वर्मा- कविता  कोश 
अंजना  वर्मा - गद्यकोश 
अंजना वर्मा  - सेतु द्विभाषी 
अंजना वर्मा  -  Atunis Galaktika
रुचि: बाग़वानी,  संगीत, योग।
संप्रति: साहित्य-सृजन में संलग्न।
 

 

लेखक की कृतियाँ

चिन्तन

लघुकथा

गीत-नवगीत

कहानी

कविता

साहित्यिक आलेख

बाल साहित्य कविता

विडियो

ऑडियो

उपलब्ध नहीं