अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई कतआ

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

भगवत शरण श्रीवास्तव

'शरण'

जन्म : फ़र्रुख़ाबाद, भारत

शिक्षा : लखनऊ विश्वविद्यालय से एम.ए., एल, एल.बी.
प्रवास : 1974 से सपरिवार कनाडा में  

लेखन: कविता विद्यार्थी जीवन से ही लिखनी आरम्भ कर दी थी। जिनका अनेक पत्र-पत्रिकाओं व काव्य संकलनों में प्रकाशन हुआ। कनाडा से प्रकाशित "प्रवासी काव्य", त्रैमासिक पत्रिका "हिन्दी चेतना" तथा अमेरिका से प्रकशित होने वाली पत्रिका "विश्वा" में भी अनेक रचनाएँ प्रकाशित हुईं। भारत में प्रकाशित "धरा से गगन तक" तथा "पृथ्वी पुत्र" में भी रचनाएँ प्रकाशित हुई हैं।

प्रकाशित पुस्तक: काव्य संकलन "मृग तृष्णा" प्रकाशित (२००४)

लेखक की कृतियाँ

कविता

विडियो

उपलब्ध नहीं

ऑडियो

उपलब्ध नहीं