अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई कतआ

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

डॉ. गोरख प्रसाद ’मस्ताना’

बेतिया, पश्चिमी चंपारण, बिहार
शिक्षा : एम.ए. (त्रय), पीएच -डी. (हिंदी)
संपादन :

प्रकाशन :    
प्रकाशित पुस्तक : 

  1. जिनगी पहाड़ हो गईल (भोजपुरी काव्य संग्रह) ( जयप्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा एवं वीर कुंवर सिंह विश्व विद्यालय, आरा के एम.ए. (भोजपुरी) हेतु पाठ्यपुस्तक)

  2. एकलव्य (भोजपुरी खंड काव्य), 

  3. लगाव (भोजपुरी लघु कथा संग्रह) (इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, दिल्ली में भोजपुरी सर्टिफिकेट कोर्स हेतु चयनित

  4. भोजपुरी व्यंग यात्रा (प्रेस में)

  5. अगरासन (भोजपुरी कथा संग्रह

  6. अंजुरी में अँजोर (भोजपुरी काव्य संग्रह)

  7. गीत मरते नहीं (हिंदीगीति काव्य संग्रह)

  8. बिन्दु से सिन्धु तक (हिंदी काव्य संग्रह)

  9. रेत में फुहार (हिंदी गीति काव्य संग्रह)

  10. पुन्य-पंथी (हिंदी महाकाव्य)

  11. तथागत (हिंदी काव्य संग्रह)

पाठ्यक्रम लेखक : 

सम्मान एवं पुरस्कार :

सदस्य :

लेखक की कृतियाँ

कविता

पुस्तक समीक्षा

विडियो

उपलब्ध नहीं

ऑडियो

उपलब्ध नहीं