अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई क़ता

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा वृत्तांत डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य लघुकथा बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट सम्पादकीय प्रतिक्रिया

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

सुरेशचन्द्र शुक्ल 'शरद आलोक'

26 जनवरी 1980 से ओस्लो, नार्वे में निवास।
जन्म: लखनऊ, उत्तर प्रदेश 
विधाएँ: उपन्यास, कहानी, नाटक, कविता, यात्रा वृत्तान्त और संमरण
मुख्य कृतियाँ:
नार्वेजीय में: 

फ्रेममेदे फ्यूगलेर (विदेशी पक्षी)1999, मेल्लुम लिनयेने (पंक्तियों के बीच) 2005 और ब्रूबिग्गेरेन (सेतु निर्माता) 2017
हिन्दी में: 
कविता: वेदना, रजनी, नंगे पांवों का सुख, दीप जो बुझते नहीं, संभावनाओं की तलाश, नीड़  में फंसे पंख, गंगा से ग्लोमा तक, प्रवासी का अन्तर्द्वन्द्व और लॉकडाउन
उपन्यास: गंगा को वापसी।
कहानी संग्रह: तारूफी ख़त, अर्धरात्रि का सूरज, प्रवासी कहानियाँ, सरहदों के पार।
नाटक: जागते रहो, अंतर्मन के रास्ते, अंततः, वापसी, डेथ ट्रैप, आधी रात का सूरज।
अनुवाद: नार्वे की लोककथायें, एच सी अन्दर्ससन (डेनमार्क) की कथायें, हेनरिक इबसेन कृत नार्वेजीय नाटक: गुड़िया का घर, मुर्गाबी, समुद्र की औरत, क्नुत हामसुन कृत उपन्यास: 'भूख' का हिंदी में मूल भाषा से अनुवाद किया।
बंगला में: 
दीप जले (कविता)
उर्दू में: 
तारूफ़ी ख़त (कहानी)
यात्रा वृत्तान्त:
सागर पार की दुनिया
संपादन: (संकलन):

संपादन: (पत्र-पत्रिकायें): श्रमाञ्चल, परिचय, वैश्विका, स्पाइल-दर्पण और www.speil.no
सम्प्रति: पत्रकार, आकेर्स आवेस ग्रूरुददालेन (नार्वेजीय भाषा का पत्र), ओस्लो, नार्वे: यूरोप सम्पादक, देशबंधु राष्ट्रीय दैनिक, नयी दिल्ली।  
कथाओं पर लघुफिल्म: तलाश 1996, रायसेन तिल कनाडा (कनाडा की सैर) 2001, इंटरव्यू 2010, गुमराह 2016. 
सम्मान:

लेखक की कृतियाँ

कविता

लघुकथा

कहानी

विडियो

उपलब्ध नहीं

ऑडियो

उपलब्ध नहीं