अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई कतआ

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

बालकविता संग्रह ‘कहावतों की कविताएं’ का हुआ लोकार्पण

 

संस्कृति शिक्षा संस्थान, कुरुक्षेत्र (हरियाणा) द्वारा प्रकाशित डॉ. वेद. मित्र शुक्ल के बाल-कविता संग्रह ‘कहावतों की कविताएं’ का लोकार्पण कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महात्मा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय, वर्धा के कुलपति प्रो. रजनीश शुक्ल एवं मुख्यातिथि प्रो. अवनीश कुमार, निदेशक, केंद्रीय हिंदी निदेशालय, व अध्यक्ष, वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग द्वारा किया गया। यह पुस्तक बच्चों की भाषा को लोक-आधार से समृद्ध करने के उद्देश्य से ‘संस्कृति भवन बाल साहित्य माला’ के अंतर्गत प्रकाशित की गई है। ज्ञात हो कि इस संस्थान से प्रकाशित यह श्री शुक्ल की दूसरी पुस्तक है। इससे पूर्व महात्मा गाँधी जयंती के १५० वर्ष पूर्ण होने पर ‘बापू से सीखें’ का प्रकाशन हो चुका है।

 

इस दौरान शिक्षा एवं बाल-साहित्य से जुड़े देश भर के 12 विद्वानों को ‘संस्कृति भवन साहित्य-सेवा सम्मान’ से अलंकृत किया गया। ये लेखक हैं: दिलीप बेतकेकर (गोवा), डॉ. ओरुगंटि सीताराम मूर्ति (विशाखापत्तनम), डॉ. श्रीराम चौथाईवाले (पुणे), देवेन्द्रराव देशमुख (रायपुर), वासुदेव प्रजापति (जोधपुर), डॉ. विकास दवे (इन्दौर), गोपाल माहेश्वरी (इन्दौर), डॉ. नीलम राकेश (लखनऊ), डॉ. फकीरचंद शुक्ल (लुधियाना), डॉ. देवेन्द्रचन्द्र दास (गुहावटी), एवं डॉ. मंजरी शुक्ला (पानीपत)। विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर इन  विद्वानों की भी पुस्तकों का विमोचन हुआ। कार्यक्रम का सफल संचालन संस्थान के सचिव अवनीश भटनागर द्वारा किया गया। इस अवसर पर विद्या भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. ललित बिहारी गोस्वामी, निदेशक डॉ. रामेन्द्र सिंह, अखिल भारतीय साहित्य परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेन्द्रचन्द्र दास सुदामा, स्थानीय विधायक सुभाष सुधा सहित अनेक लेखक व विद्वान उपस्थित रहे।

हाल ही में

अन्य समाचार