अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका कविता-सेदोका महाकाव्य चम्पू-काव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई क़ता

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक चिन्तन शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य ललित कला

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा वृत्तांत डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य लघुकथा बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट सम्पादकीय प्रतिक्रिया

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

दिनेश चन्द्र पुरोहित

जोधपुर (राजस्थान)
जन्म स्थान : पाली मारवाड़
शिक्षा : बी.एससी.; डिप्लोमा (क्रिमनॉलोजी), पी.जी. डिप्लोमा पत्रकारिता
प्रकाशन :
पुस्तकें (राजस्थानी भाषा में)

(ये दोनों हास्य-नाटक की किताबें, रेल गाडी से “जोधपुर-मारवाड़ जंक्शन” के बीच रोज़ आना-जाना करने वाले एम.एस.टी. होल्डर्स की हास्य-गतिविधियों पर लिखी गयी है।)  

(मानवीय सम्वेदना पर लिखी गयी कहानियाँ। सिटीजंस सोसाइटी फॉर एज्यूकेशन के तत्वाधान मे बुधवार २३ अगस्त २०१७, सांय ५ बजे स्वामी कृष्णानन्द स्मृति सभागृह में महाराजा मान सिंह पुस्तक प्रकाशन के द्वारा मेरी चयनित की गयी पुस्तक ‘मारवाड़ री कहानियां’ का लोकार्पण किया गया। इस सामारोह के मुख्य अतिथि डॉक्टर अर्जुन देव चारण कन्वीनर [राजस्थांनी भाषा], श्री आईदान सिंह भाटी अध्यक्ष एवं प्रोफ़ेसर ज़हूर खां मेहर प्रमुख वक्ता थे।

      
पुस्तक “कठै जावै रै, कढ़ी खायोड़ा,” “गाड़ी रा मुसाफ़िर” और “मारवाड़ री कहानियां का हिंदी अनुवाद किया जा चुका है। अब इस समय पुस्तक “गाड़ी रा मुसाफ़िर” का हिंदी अनुवाद कार्य जारी है।   

पुस्तकें (हिन्दी भाषा)

(व्यंग्यात्मक नयी शैली “संस्मरण” को काम में लेकर लिखे गए वाक़ये। राजस्थान में प्रारंभिक शिक्षा विभाग का उदय, और उत्पन्न हुई हास्य-व्यंग्य की हलचलों का वर्णन] 

पुस्तकें (उर्दू भाषा)

(मज़दूर बस्ती में आयी हुई लड़कियों की सैकेंडरी स्कूल में, संस्था प्रधान के परिवर्तनों से उत्पन्न हुई हास्य-गतिविधियाँ इस पुस्तक में दर्शायी गयी हैं।)

कहानियाँ और हास्य-नाटक इंटरनेट पर विभिन्न वेबसाइट्स पर प्रकाशित
रुचि : व्यंग्य-चित्र बनाना   


 

लेखक की कृतियाँ

सांस्कृतिक कथा

विडियो

उपलब्ध नहीं

ऑडियो

उपलब्ध नहीं