अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता गीत-नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई कतआ

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

गोइन्का राजस्थानी साहित्य पुरस्कार वितरण समारोह सम्पन्न

चूरू जिले के सम्मानित विधायक श्री राजेन्द्रसिंह जी राठौड़ की अध्यक्षता में "मातुश्री कमला गोइन्का राजस्थानी साहित्य पुरस्कार" वितरण समारोह जयपुर (राजस्थान) में भारतीय विद्या भवन के "महाराणा प्रताप सभागृह" में संपन्न हुआ। इस अवसर पर फाउण्डेशन के प्रबंध न्यासी श्री श्यामसुन्दर गोइन्का द्वारा कोटा राजस्थान के सुप्रसिद्ध साहित्यकार श्री अंबिका दत्त जी को पुरस्कार स्वरूप एक लाख ग्यारह हज़ार एक सौ ग्यारह रुपये नगद के संग श्री राजेन्द्रसिंह जी के हाथों शॉल, श्रीफल व स्मृतिचिन्ह भेंट कर पुरस्कृत किया गया।

संग-संग जयपुर की स्वनामधन्य साहित्यकार श्रीमती सावित्री चौधरी जी को भी "रानी लक्ष्मीकुमारी चूण्डावत महिला साहित्यकार पुरस्कार" के तहत पुरस्कार स्वरूप इकतीस हज़ार रुपये नगद के संग समारोह अध्यक्ष के हाथों शॉल, श्रीफल व स्मृतिचिन्ह भेंट कर पुरस्कृत किया गया।

समारोह आयोजक श्री गोइन्का जी ने पुरस्कार व फाउण्डेशन के कार्यकलापों के बारे में जानकारी दी तथा आये हुए अतिथियों व साहित्यकारों का स्वागत किया। सम्मानित साहित्यकारों ने अपने सम्मान का आभार व्यक्त करते हुए कमला गोइन्का फाउण्डेशन को धन्यवाद दिया।

समारोह अध्यक्ष श्री राजेन्द्रसिंह राठौड़ जी ने सम्मानमूर्ति साहित्यकारों का अभिनन्दन किया तथा गोइन्का जी को साहित्यिक गतिविधयों के लिए बधाई देते हुए हिन्दी, राजस्थानी, कन्नड़, तेलुगु, तमिल एवं मलयालम आदि साहित्य के प्रति किये जा रहे कार्यों की भरपूर सराहना की।

समारोह के अंत में श्री श्यामसुन्दर शर्मा ने समारोह की सफलता के लिए विशिष्ट अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया। कार्यक्रम का संचालन प्रो. उमेद गोठवाल ने सुचारू रूप से किया।

इस अवसर पर जोधपुर से पधारे "माणक" पत्रिका के प्रबंध संपादक श्री पदम मेहता जी, जयपुर के सुप्रसिद्ध कवि श्री केशरदेव मारवाड़ी, चूरू से पधारे वरिष्ठ साहित्यकार श्री दुलाराम सहारण के संग नन्दकिशोर मोजासिया, श्री अरूण अग्रवाल तथा फाउण्डेशन की सहन्यासी व समारोह आयोजन में कर्मठ भूमिका में रहने वाली श्रीमती ललिता गोइन्का सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

हाल ही में

अन्य समाचार