अन्तरजाल पर
साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली

काव्य साहित्य

कविता नवगीत गीतिका दोहे कविता - मुक्तक कविता - क्षणिका कवित-माहिया लोक गीत कविता - हाइकु कविता-तांका कविता-चोका महाकाव्य खण्डकाव्य

शायरी

ग़ज़ल नज़्म रुबाई

कथा-साहित्य

कहानी लघुकथा सांस्कृतिक कथा लोक कथा उपन्यास

हास्य/व्यंग्य

हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी हास्य व्यंग्य कविता

अनूदित साहित्य

अनूदित कविता अनूदित कहानी अनूदित लघुकथा अनूदित लोक कथा अनूदित आलेख

आलेख

साहित्यिक सामाजिक शोध निबन्ध ललित निबन्ध अपनी बात ऐतिहासिक सिनेमा और साहित्य रंगमंच

सम्पादकीय

सम्पादकीय सूची

संस्मरण

आप-बीती स्मृति लेख व्यक्ति चित्र आत्मकथा डायरी बच्चों के मुख से यात्रा संस्मरण रिपोर्ताज

बाल साहित्य

बाल साहित्य कविता बाल साहित्य कहानी बाल साहित्य नाटक बाल साहित्य आलेख किशोर साहित्य कविता किशोर साहित्य कहानी किशोर साहित्य लघुकथा किशोर हास्य व्यंग्य आलेख-कहानी किशोर हास्य व्यंग्य कविता किशोर साहित्य नाटक किशोर साहित्य आलेख

नाट्य-साहित्य

नाटक एकांकी काव्य नाटक प्रहसन

अन्य

रेखाचित्र कार्यक्रम रिपोर्ट

साक्षात्कार

बात-चीत

समीक्षा

पुस्तक समीक्षा पुस्तक चर्चा रचना समीक्षा
कॉपीराइट © साहित्य कुंज. सर्वाधिकार सुरक्षित

प्रो. ऋषभदेव शर्मा

जन्म : 04.07.1957, ग्राम - गंगधाडी, जिला - मुज़फ्फर नगर, उत्तर प्रदेश
शिक्षा : एम.ए. (हिन्दी), एम.एससी. (भौतिकी), पीएच.डी. (उन्नीस सौ सत्तर के पश्चात की हिंदी कविताओं का अनुशीलन)।
कार्य :  प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, उच्च शिक्षा और शोध संस्थान, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, खैरताबाद, हैदराबाद - 500 004
1983-1990 : जम्मू और कश्मीर राज्य में गुप्तचर अधिकारी (इंटेलीजेंस ब्यूरो, भारत सरकार)
1990-1997 :    प्राध्यापक : उच्च शिक्षा और शोध संस्थान, दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा : मद्रास और हैदराबाद केंद्र में।
1997-2005 :    रीडर : उच्च शिक्षा और शोध संस्थान : हैदराबाद केंद्र में।
2005-2006 : प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, उच्च शिक्षा और शोध संस्थान : एरणाकुलम केंद्र में।
संप्रति : १५ मई, २००६ से : प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, उच्च शिक्षा और शोध संस्थान : दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, हैदराबाद केंद्र में।
प्रकाशन : 
काव्य संग्रह   - तेवरी, तरकश, ताकि सनद रहे।
आलोचना    - तेवरी चर्चा, हिंदी कविता : आठवाँ नवाँ दशक।  कविता की समकालीनता (प्रकाश्य)।
अनुवाद चिंतन  - साहित्येतर हिंदी अनुवाद विमर्श।
संपादन : अनुवाद : नई पीठिका, नए संदर्भ, स्त्री सशक्तीकरण के विविध आयाम, प्रेमचंद की भाषाई चेतना।
पत्रिकाएँ : संकल्य (त्रैमासिक); दो वर्ष पूर्णकुंभ (मासिक); पाँच वर्ष : सहायक संपादक  महिप (त्रैमासिक); सहयोगी संपादक आदर्श कौमुदी;
तमिल कहानी विशेषांक कर्णवती; समकालीन तमिल साहित्य विशेषांक।
पाठ्यक्रम लेखन :

विभिन्न विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों/संस्थानों द्वारा आयोजित संगोष्ठियों / लेखक शिविरों/ कार्यशालाओं में संसाधक/विषय विशेषज्ञ।
शोध निर्देशन :  पीएच.डी. और एम.फिल. के ६५ शोध प्रबंधों का सफलतापूर्वक निर्देशन।
विशेष :मूलतः  कवि। १९८० में तेवरी काव्यांदोलन (आक्रोश की कविता) का प्रवर्तन। अनेक शोधपरक समीक्षाएँ एवं शोधपत्र प्रकाशित। लगभग ५० पुस्तकों के लिए भूमिका-लेखन।


 

 

लेखक की कृतियाँ

पुस्तक समीक्षा

ललित निबन्ध

साहित्यिक आलेख

कविता

पुस्तक चर्चा

दोहे

विडियो

उपलब्ध नहीं

ऑडियो

उपलब्ध नहीं